नई दिल्ली: ग्राहकों की संख्या के हिसाब से देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म जीरोधा के मालिक नितिन कामत ने कभी ढोल पीटने के बारे में नहीं सोचा था. साल 2016 में जीरोधा के 70,000 ग्राहक थे जो 2022 में बढ़कर एक करोड़ पर पहुंच चुके हैं. नितिन कामत का जीरोधा अलग तरीके से कारोबार कर स्टार्ट को यूनिकॉर्न बनाने के मामले में पोस्टर चाइल्ड बन चुका है. नितिन ने कहा, "इस कारोबार में कुछ चीजें बहुत मुश्किल नहीं है और अगर हमें फंड नहीं मिलता तो शायद इस लेवल पर पहुंचना मुश्किल था."

Shark Tank जैसे प्रोग्राम से युवा उद्यमियों को मिल सकती है काफी मदद, जानिए नमिता थापर का क्या है मानना?
नितिन कामत ने साल 2010 तक जीरोधा को लॉन्च नहीं किया था. शेयर बाजार में ट्रेडिंग कारोबार की शुरुआत हालांकि कामत एक दशक पहले ही कर चुके थे. एक मारवाड़ी परिवेश में पले बढ़े नितिन कामत उन लोगों के बीच रहते थे जो शेयर बाजार में अपना हाथ आजमाना चाहते थे.

डेली न्यूज़

सेबी द्वारा कृषि जिंसों में डेरिवेटिव व्यापार पर प्रतिबंध

  • 21 Dec 2021
  • 11 min read
    टैग्स:

प्रिलिम्स के लिये:

कैपिटल मार्केट, डेरिवेटिव ट्रेडिंग, इन्फ्लेशन, ऑप्शंस, फ्यूचर्स, फॉरवर्ड्स, स्वैप्स

मेन्स के लिये:

डेरिवेटिव ट्रेडिंग निलंबन के कारण और इसके प्रभाव, महत्त्व और डेरिवेटिव ट्रेडिंग से संबंधित चिंताएँ।

चर्चा में क्यों?

हाल ही में भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने नेशनल कमोडिटीज़ एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) के फ्यूचर प्लेटफॉर्म पर सात कृषि जिंसों के डेरिवेटिव व्यापार पर एक वर्ष के लिये प्रतिबंध लगा दिया है।

Market Outlook for this Week: डेरिवेटिव एक्सपायरी के चलते मार्केट में रहेगा उतार-चढ़ाव, इन फैक्टर्स से तय होंगी बाजार की चाल

बीते सप्ताह BSE का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,532.77 अंक या 2.90 फीसदी चढ़ा. वहीं NSE का निफ्टी 484 अंक या 3.06 प्रतिशत के लाभ में रहा.

Market Outlook for this Week: डेरिवेटिव एक्सपायरी के चलते मार्केट में रहेगा उतार-चढ़ाव, इन फैक्टर्स से तय होंगी बाजार की चाल

Market Outlook for this Week: इस सप्ताह ग्लोबल फैक्टर्स और फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (FII) के रुझान से डोमेस्टिक मार्केट सेंटीमेंट्स की दिशा तय होगी. इसके अलावा मंथली डेरिवेटिव एक्सपायरी की वजह से घरेलू बाजारों में उतार-चढ़ाव रह सकता है. विश्लेषकों ने यह राय जताई है. स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट के रिसर्च हेड संतोष मीणा ने कहा कि पिछले कुछ सत्रों में घरेलु बाजारों में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है. हालांकि, निफ्टी में 5 हफ्ते की गिरावट के सिलसिले के बाद 3 फीसदी की अच्छी वीकली बढ़त देखने को मिली है. बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,532.77 अंक या 2.90 फीसदी चढ़ा. वहीं NSE का निफ्टी 484 अंक या 3.06 प्रतिशत के लाभ में रहा.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

  • मीणा ने आगे कहा, ‘‘ग्लोबल इकनॉमी में इन्फ्लेशन और स्लोडाउन दुनियाभर के जिंसों और स्टॉक्स ट्रेडिंग बाजारों के लिए चिंता की बात है. इस वजह से FII बिकवाली कर रहे हैं. हालांकि, डोमेस्टिक इन्वेस्टर्स के सपोर्ट के कारण भारतीय बाजार बेहतर स्थिति में है.’’ उन्होंने कहा कि मंथ एक्सपायरी की वजह से इस सप्ताह घरेलू बाजारों में कुछ उतार-चढ़ाव रहेगा.
  • उन्होंने आगे कहा, वैश्विक मोर्चे पर फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (FOMC) की बैठक का ब्योरा 25 मई को जारी किया जाएगा, जो बाजार के नज़रिए से काफी अहम होगा. इसके अलावा डॉलर इंडेक्स का रुख और जिंसों और स्टॉक्स ट्रेडिंग जिंसों के दाम भी बाजार को दिशा देने में अहम भूमिका निभाएंगे.
  • सैमको सिक्योरिटीज में इक्विटी रिसर्च हेड येशा शाह ने कहा, ‘‘पिछले सप्ताह बाजार में उतार-चढ़ाव रहा. वृहद आर्थिक आंकड़ों, मौजूदा जिंसों और स्टॉक्स ट्रेडिंग तिमाही नतीजों के सीजन और डेरिवेटिव निपटान की वजह से यह सिलसिला इस सप्ताह भी जारी रह सकता है.’’
  • शाह ने कहा कि FOMC की बैठक का ब्योरा, अमेरिका के जीडीपी के अनुमान और बेरोजगारी के आंकड़े ग्लोबल मार्केट सेंटीमेंट्स को प्रभावित करेंगे.
  • मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के रिटेल रिसर्च हेड सिद्धार्थ खेमका ने कहा, ‘‘कुल मिलाकर हमारा मानना है कि इस सप्ताह भी बाजारों में उतार-चढ़ाव रहेगा. वृहद स्तर पर कई चीजें मसलन हाई इन्फ्लेशन और आक्रामक तरीके से ब्याज दरों में बढ़ोतरी बाजार को प्रभावित करेगी.’’

Weak Debut: बाजार की गिरावट ने Abans Holdings की बिगाड़ी एंट्री, पहले ही दिन 18% टूटा शेयर, क्‍या करें निवेशक?

Sula Vineyards की बाजार में कमजोर एंट्री, पैसा लगाने वालों को हर शेयर पर 1 रुपये का मुनाफा, अब क्‍या करें?

इन कंपनियों के आएंगे तिमाही नतीजे

सप्ताह के दौरान सेल, जोमैटो, अडाणी पोर्ट्स, दीपक फर्टिलाइजर्स, इंटरग्लोब एविएशन, हिंडाल्को, एनएमडीसी, गेल और गोदरेज इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजे आएंगे. रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष शोध अजित मिश्रा ने कहा कि आगे चलकर वैश्विक रुख, तिमाही नतीजों का अंतिम चरण और रूस-यूक्रेन युद्ध बाजार जिंसों और स्टॉक्स ट्रेडिंग की दिशा को प्रभावित करेगा.

manu bhatia trading strategy

STOCK MARKET SUCCESS WITH MANU BHATIA

Everything you need to know about stock market basics from Stock Market Participants and fundamentals of Investing in the Stock Market with Live Trading in malayalam.

ITI Student Resume Portal

रिज्यूम पोर्टल का मुख्य उद्देश्य योग्य छात्रों की जानकारी सार्वजनिक पटल पर लाने की है जिससे जिन्हें आवश्यकता हो वह अपने सुविधा अनुसार छात्रों का चयन कर सकते हैं

ITI Student Resume

Search engine adsence

कंप्यूटर सर्टिफिकेट

क्या आपके पास 1 वर्ष का कंप्यूटर सर्टिफिकेट नहीं है |

आज सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले आर्टिकल

Funny

State ITI (ITI Count)

    (3263 ITI) (1814 ITI) (1503 ITI) (1240 ITI) (1082 ITI) (977 ITI) (571 ITI) (511 ITI) (499 ITI) (496 ITI) (467 ITI) (399 ITI) (357 ITI) (322 ITI) (292 ITI) (268 ITI) (260 ITI) (228 ITI) (118 ITI) (36 ITI) (21 ITI) (13 ITI) (8 ITI) (6 ITI) (5 ITI) (3 ITI) (3 ITI) (1 ITI)

Union Territory ITI

    (52 ITI) (40 ITI) (14 ITI) (4 ITI) (2 ITI) (2 ITI) (1 जिंसों और स्टॉक्स ट्रेडिंग ITI)

Important Portal for Students

Engineering Drawing

Employability Skills

Workshop Calculation and Science

ITI Trade Fitter

ITI Trade COPA

ITI Trade Electrician

About ITI Directory

ITI directory is an interactive platform for ITI students, ITI colleges and Entrepreneurship. This ITI directory tries to create Bridge between ITI student and industry. ITI directory is trying to best provide information of ITI colleges.

Zerodha:एड पर एक रुपया खर्च किए बिना जीरोधा कैसे बनी देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज, नितिन कामत बता रहे हैं राज

नितिन ने साल 2005 में अपनी एडवाइजरी बिजनेस शुरू करने से पहले एक कॉल सेंटर में काम किया. इसके बाद उन्होंने याहू मैसेंजर और ऑरकुट पर अपना ज्ञान शेयर करने के लिए ग्रुप बनाए. इसके बाद नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने फ्री ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म लांच किया जिससे जीरोधा के शुरुआत की योजना बनी.

nithin-kamath (1)

ग्राहकों की संख्या के हिसाब से देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म जीरोधा के मालिक नितिन कामत ने कभी ढोल पीटने के बारे में नहीं सोचा था

नई दिल्ली: ग्राहकों की संख्या के हिसाब से देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज फर्म जीरोधा के मालिक नितिन कामत ने कभी ढोल पीटने के बारे में नहीं सोचा था. साल 2016 में जीरोधा के 70,000 ग्राहक थे जो 2022 में बढ़कर एक करोड़ पर पहुंच चुके हैं. नितिन कामत का जीरोधा अलग तरीके से कारोबार कर स्टार्ट को यूनिकॉर्न बनाने के मामले में पोस्टर चाइल्ड बन चुका है. नितिन ने कहा, "इस कारोबार में कुछ चीजें बहुत मुश्किल नहीं है और अगर हमें फंड नहीं मिलता तो शायद इस लेवल पर पहुंचना मुश्किल था."

Shark Tank जैसे प्रोग्राम से युवा उद्यमियों को मिल सकती है काफी मदद, जानिए नमिता थापर का क्या है मानना?
नितिन कामत ने साल 2010 तक जीरोधा को लॉन्च नहीं किया था. शेयर बाजार में ट्रेडिंग कारोबार की शुरुआत हालांकि कामत एक दशक पहले ही कर चुके थे. एक मारवाड़ी परिवेश में पले बढ़े नितिन कामत उन लोगों के बीच रहते थे जो शेयर बाजार में अपना हाथ आजमाना चाहते थे.

90 के दशक के आखिर में उन्होंने अपनी मां का ऑफलाइन ट्रेड अकाउंट लेकर शेयर बाजार में कारोबार की शुरुआत की. शेयर बाजार के कारोबार की शुरुआत करने की वजह से उनकी कारोबारी समझ बेहतर बनी. नितिन ने साल 2005 में अपनी एडवाइजरी बिजनेस शुरू करने से पहले एक कॉल सेंटर में काम किया.

इसके बाद उन्होंने याहू मैसेंजर और ऑरकुट पर अपना ज्ञान शेयर करने के लिए ग्रुप बनाए. इसके बाद नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने फ्री ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म लांच किया जिससे जीरोधा के शुरुआत की योजना बनी.

नितिन ने कहा, "साल 2010 में जीरोधा लांच करने के पीछे दो समस्याओं का समाधान करना मुख्य उद्देश्य था. हम ट्रेडिंग कॉस्ट को कम करना चाहते थे. इसके साथ ही शेयर खरीदने बेचने के कारोबार में ट्रांसपेरेंसी लाना चाहते थे. पैसे से जुड़े कारोबार में यह दोनों चीजें जरूरी है. इन्हीं दोनों समस्याओं के समाधान ने जीरोधा को देश के लोगों का पसंदीदा ब्रोकरेज हाउस बना दिया."

जीरोधा ने कारोबार की शुरुआत में 6 साल में 70000 ग्राहक बनाए. इसके बाद 4 साल में 2 मिलियन कस्टमर बन गए. पिछले कुछ सालों में जीरोधा ने शानदार तरक्की देखी है. साल 2022 में जीरोधा के 1 करोड़ से अधिक ग्राहक बन चुके हैं.

जीरोधा अपने ग्राहकों को बेहतरीन अनुभव देकर उनका भरोसा जीतने में कामयाब रही है. इस वजह से जीरोधा के ग्राहकों ने माउथ पब्लिसिटी से कंपनी को बड़ा बनाने में काफी योगदान किया है. नितिन कामत ने कहा, "जीरोधा के पास आज एक करोड़ से अधिक ग्राहक हैं और यह देश की सबसे बड़ी ब्रोकरेज कंपनी है लेकिन हमने आज तक ₹1 भी विज्ञापन पर खर्च नहीं किया है." जीरोधा के ग्राहक ही उसकी पब्लिसिटी करते हैं और उसी से नए ग्राहक बनते हैं.

अमरीकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया में उछाल, शेयर मार्केट में भी तेजी

Dollar vs Rupee: अमरीकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया आज 67 पैसे मजबूत होकर 82.14 पर पहुंच गया है। पिछले ट्रेडिंग डे मंगलवार को रुपया में 7 पैसे की तेजी देखी गई थी। वहीं बुधवार को मार्केट छुट्टी के कारण बंद था।

rupee-gains-67-paise-to-82-14-against-us-dollar-stock-market-also-boomed.jpg

Dollar vs Rupee: 27 अक्टूबर यानी आज डॉलर के मुकाबले रुपया 67 पैसे मजबूत होकर 82.14 पर करोबार कर रहा है। मार्केट एक्सपर्ट के अनुसार फेडरल रिजर्व के द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी की गति को धीमा करने की अटकलों के कारण अमेरिकी डॉलर कमजोर हुआ है और भारतीय रुपए में तेजी से उछाल आया है। इसके साथ शेयर मार्केट का नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) व बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) हरे निशान के साथ कारोबार कर रहा है।

रेटिंग: 4.13
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 670